भारत के किस गांव के घरों में घड़ियां उल्टी चलती हैं ? आदिवासी घड़ि

आदिवासी घड़ी - गजब है यहां घडी में 9 ...

इस पूरी दुनिया में एक ऐसी चीज है जो सभी के लिए बेहद जरूरी है। यह कोई महंगी चीज नहीं है बल्कि बेहद ही सस्ती है लेकिन अगर ये ना हो तो हमारा कोई भी काम समय से नहीं हो पाएगा। अब रहस्य से पर्दा उठाते हुए आपको बता देते हैं कि ये चीज घड़ी है। घड़ी हम सब की जिंदगी में काफी अहम भूमिका अदा करती है। अगर ये ना होती तो दुनिया का संतुलन बिगड़ जाता। आप सभी ने घड़ी को चलते हुए तो देखा होगा, यह दाएं से बाएं तरफ चलती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया में एक ऐसी घड़ी है जो उल्टी दिशा में घूमती है।

दरअसल दुनिया में एक जगह ऐसी है जहां पर घड़ियां उल्टी दिशा में घूमती हैं। यह जगह दुनिया के लिए किसी रहस्य से कम नहीं है। कुछ लोगों को ये बात मजाक भी लग सकती है, लेकिन यह बिल्कुल हकीकत है और ऐसी जगह सच में मौजूद है।

जिस जगह की हम बात कर रहे हैं वो दरअसल भारत के छत्तीसगढ़ में कोरबा नामक स्थान है। यहां पर जितनी भी घड़ियां हैं वो उल्टी दिशा में घूमती हैं। यह कोरबा के पास ही स्थित आदिवासी शक्ति पीठ से जुड़ा एक स्थान है।

आपको बता दें कि यहां पर गोंड आदिवासी रहते हैं। इन आदिवासियों के घरों में जो घड़ियां हैं वो सभी उल्टी दिशा में चलती हैं। ऐसा यहां पर सालों से चला आ रहा है। ये घड़ियां एंटी क्लॉक वाइज चलती हैं जिन्हें देखने के बाद आपको थोड़ा सा अजीब जरूर लग सकता है लेकिन यहां के निवासियों के लिए ये आम बात है।

दरअसल ये घड़ियां आम घड़ियों की तरह ही हैं बस ये दाईं तरफ चलती हैं। आदिवासियों का मानना है कि पृथ्वी भी एंटी क्लॉक वाइज चलती है साथ ही पेड़ो पर चढऩे वाली बेल भी इसी दिशा में पेड़ पर आगे बढ़ती है। सूर्य चंद्रमा भी इसी दिशा में गति करते हैं ऐसे मैं सभी चीज जब विपरीत दिशा में हैं तो घड़ी भी इसी दिशा में चलनी चाहिए। यहां के लोग प्रकृति को अपना देवता मानते हैं इसीलिए उनके घरों में जो गाड़ियां होती हैं वो उलटी दिशा में चलती है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां