किसान सम्मान निधि लिस्ट 2021-22: pmkisan.gov.in List, PM Kisan Status

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट | PM Kisan Yojana List 2021 | पीएम किसान सम्मान निधि योजना किसान 8वी किस्त | PM Kisan Status 2021 | किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट | Kisan Samman Nidhi List 9th Installment

किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट को केंद्र सरकार द्वारा ऑनलाइन पोर्टल पर जारी कर दिया गया है । देश के जिन छोटे व सीमांत किसानो ने सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्राप्त करने के लिए इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन किया है तो वह लाभार्थी पीएम किसान सम्मान निधि योजना की ऑफिसियल वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाकर Kisan Samman Nidhi List में अपना नाम देख सकते है । जिन लोगो का नाम इस किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट 2021 में आएगा उन्हें सरकार द्वारा 6000 रूपये की आर्थिक सहायता तीन किश्तों में प्रदान की जाएगी । किसान सम्मान निधि लिस्ट, PM Kisan Status, आधार रिकॉर्ड व Kisan Samman Nidhi List से जुडी सभी जानकारी हमारे द्वारा प्रदान की जारी है

किसान सम्मान निधि योजना 9वी किस्त

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत अब तक सरकार द्वारा 8 किसते प्रदान की जा चुकी है। जिनके माध्यम से ₹2000- ₹2000 रुपए की राशि किसानों के खाते में हस्तांतरित की गई है। इस योजना के माध्यम से प्रत्येक किसान को एक वर्ष में कुल ₹6000 की राशि प्रदान की जाती है। जो कि ₹2000 रुपए की तीन किस्तों में 4 महीने के अंतराल पर प्रदान की जाती है। हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा इस योजना की 9वी किस्त की राशि 9 अगस्त 2021 को जारी कर दी गई है।

जिसके माध्यम से किसानों के खाते में ₹2000 रुपए डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से भेजे गए हैं। 9वी किस्त के माध्यम से 9.75 करोड़ किसानों को लाभ पहुंचा है एवं सरकार द्वारा ₹19500 करोड़ रुपया की राशि 9वी किस्त प्रदान करने के लिए खर्च की गई है। अब तक इस योजना के संचालन के लिए 1.38 लाख करोड़ रुपए से अधिक की राशि खर्च की जा चुकी है।

PM Kisan Status8th Installment

Kisan Samman Nidhi Yojana सरकार की महत्वकांक्षी योजनाओं में से एक योजना है। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा किसानों की आर्थिक सहायता की जाती है। यह आर्थिक सहायता (तीन किस्तों में रुपए 2000 देकर) किसानों को किस्तों में प्रदान की जाती है। अब तक सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत 8 किस्त जारी की जा चुकी है। 8वीं किस्त की राशि सरकार द्वारा किसानों के खाते में 14 मई 2021 को जारी की गई है। 8वी किस्त के अंतर्गत लगभग 9,50,67,601 करोड किसानों के खाते में 20,667,75,66,000 हज़ार करोड़ रुपए ट्रांसफर किये गए है। किसान सम्मान निधि योजना 8वीं किस्त की जानकारी आप हमारे द्वारा बताई गयी प्रक्रिया द्वारा जाँच सकते है|

12 करोड़ किसानों को पहुंचा किसान सम्मान निधि कालाभ

किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत अब तक 12 करोड़ किसानों को लाभ पहुंचाया जा चुका है। एवं इन 12 करोड़ किसानों में से 2.5 करोड़ किसान उत्तर प्रदेश के हैं। इस बात की जानकारी भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधा मनोहर सिंह द्वारा साझा की गई है। उनके द्वारा मथुरा के दीन दयाल पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय में आयोजित किसान सम्मान समारोह में किसानों को संबोधित भी किया गया। उनके द्वारा यह भी बताया गया कि इस योजना के संचालन के लिए अब तक 1.60 लाख करोड रुपए खर्च किए जा चुके हैं. इस समारोह में उन्होंने मथुरा के 71 किसानों को भी सम्मानित किया। उत्तर प्रदेश में गन्ना उत्पादक किसानों को को 1.43 लाख करोड़ रुपए का भुगतान भी किया गया है।

किसान सम्मान निधि 8वीं किस्त के अंतर्गत हस्तांतरित राशि

राज्य/केंद्र शासित प्रदेशकिसानों की संख्याहस्तांतरित राशि
 अंडमान एंड निकोबार आईलैंड 15857 32642000
 आंध्र प्रदेश 4301882 9437854000
 अरुणाचल प्रदेश 91811 189014000
 आसाम 1246277 4048380000
 बिहार 7758514 15795196000
 छत्तीसगढ़ 2460478 5174490000
 दिल्ली 12226 25584000
 गोवा 8584 18302000
 गुजरात 5479600 11559276000
 हरियाणा 1729311 3561590000
 हिमाचल प्रदेश 901777 1832414000
 जम्मू एंड कश्मीर 855835 1793784000
 झारखंड 1388264 2861544000
 कर्नाटका 5167535 10652594000
 केरला 3339880 6849242000
 लद्दाख 16535 33726000
 मध्य प्रदेश 8095544 16753310000
 महाराष्ट्र 9160108 18920402000
 मणिपुर 282506 574982000
 मेघालय 8967 18078000
 मिजोरम 85662 180476000
 नागालैंड 174564 351162000
 उड़ीसा 2590315 7204622000
 पुडुचेरी 10154 20360000
 पंजाब 1756246 3537126000
 राजस्थान 6615374 14024320000
 तमिल नाडु 3715536 7519080000
 तेलंगाना 3542673 7244320000
दमन और दीव 9666 19986000
 त्रिपुरा 208075 423616000
 उत्तर प्रदेश 22508275 51505252000
 उत्तराखंड 825615 1699022000
 वेस्ट बंगाल 703955 2815820000
 Total 95067601 206677566000

Overview Of Kisan Samman Nidhi Yojana List 2021

योजना का नामकिसान सम्मान निधि योजना लिस्ट
इनके द्वारा शुरू की गयीकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीदेश के छोटे और सीमांत किसान
उद्देश्यकिसानो को आर्थिक सहायता प्रदान करना
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://www.pmkisan.gov.in/
योजना का प्रकारकेंद्र सरकार की योजना
लाभरुपए 6000 की आर्थिक सहायता
आरंभ तिथि1-12-2018
पांचवी क़िस्त हेतु सम्मिलित की गयी लाभार्थियों की संख्या8.69 करोड़
सातवीं क़िस्त आरम्भ तिथि25 December 2020
आठवीं क़िस्त जारी करने की तिथिMay 2021
माह अप्रैल 2020 में जारी की गयी धनराशि7,384 करोड़
पीएम किसान सम्मान पंजीकरण फॉर्मयहां क्लिक करें
पीएम किसान सम्मान लाभार्थी स्थितियहां क्लिक करें
लाभार्थी सूची की जाँच करेंयहां क्लिक करें
किसान सम्मान निधि योजना आवेदन पत्रयहां क्लिक करें

आठवीं किस्त की राशि ना प्राप्त होने पर यहां संपर्क करें

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट की आठवीं किस्त की राशि जारी की जा चुकी है। यह आठवीं किस्त की राशि 9 करोड़ 50 लाख से ज्यादा किसानों के खाते में पहुंचाई गई है। यह राशि लगभग 20000 करोड रुपए की है। यदि आपके खाते में आठवीं किस्त की राशि नहीं आई है तो आपको इसके लिए शिकायत दर्ज करनी होगी। यह शिकायत आप हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके दर्ज कर सकते हैं या फिर ईमेल लिख कर भी आप अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर 011-24300606/ 011-23381092 है तथा ईमेल आईडी pmkisan-ict@gov.in है। पीएम किसान के हेलडेक्स के ईमेल पर केवल सोमवार से शुक्रवार तक ही संपर्क किया जा सकता है। इसके अलावा लाभार्थी अपने क्षेत्र के लेखपाल या कृषि अधिकारी से भी संपर्क करके शिकायत दर्ज कर सकता है।

पात्र किसान पंजीकरण कर के प्राप्त करें 4000 रुपए

केंद्र सरकार द्वारा किसान सम्मान निधि योजना आठवीं किस्त की राशि जारी की जा चुकी है। इस आठवीं किस्त के माध्यम से 9.5 करोड़ किसानों के खाते में 20000 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए हैं। वे सभी किसान जिन्होंने इस योजना के अंतर्गत अभी तक रजिस्ट्रेशन नहीं करवाया है वह रजिस्ट्रेशन करवा कर आठवीं किस्त की राशि एवं अगले माह की नवी किस्त की राशि प्राप्त कर सकते हैं।

  • किसानों को रजिस्ट्रेशन 30 जून 2021 के पहले पहले करवाना होगा। यदि किसानों द्वारा 30 जून 2021 तक रजिस्ट्रेशन करवा लिया गया तो जुलाई में उन्हें आठवीं किस्त की राशि प्रदान की जाएगी एवं अगस्त में उन्हें नवी किस्त की राशि भी प्रदान की जाएगी। इस तरह किसानों को 2 माह के अंदर अंदर लगभग ₹4000 प्रदान किए जाएंगे।
  • इस योजना के अंतर्गत साल की पहली किस्त की राशि 1 दिसंबर से 31 मार्च के बीच ट्रांसफर की जाती है। दूसरी किस्त की राशि 1 अप्रैल से 31 जुलाई के बीच ट्रांसफर की जाती है एवं तीसरी किस्त की राशि 1 अगस्त से 30 नवंबर के बीच किसानों के खाते में ट्रांसफर की जाती है।
  • यदि आप इस योजना के अंतर्गत पंजीकृत हैं और आपके खाते में लाभ की राशि नहीं पहुंच रही है तो आप हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क स कर सकते हैं। या आप इमेल भी लिख सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर 1800 11 55266, 155261, 011–23381092 तथा 0120–6025109 है। ईमेल आईडी pmkisaan-ict@gov.in है।

कुल 135000 करोड़ रुपए की राशि अब तक की गई खर्च

किसान सम्मान निधि योजना को 1 दिसंबर 2018 को आरंभ किया गया था। जिसके माध्यम से प्रतिवर्ष किसानों को ₹6000 की आर्थिक सहायता तीन रिश्तो में प्रदान की जाती है। अब तक इस योजना के माध्यम से 135000 करोड़ की राशि खर्च की जा चुकी है। जिससे 11 करोड़ किसानों को लाभ पहुंचा है। जिसमें से 60000 करोड़ रुपए की राशि कोरोनाकाल में किसानों के खाते में हस्तांतरित की गई है। छोटे और सीमांत किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से इस योजना को डिजिटल इंडिया इनीशिएटिव के अंतर्गत आरंभ किया गया था। लगभग 12 करोड किसानों को इस योजना का लाभ प्रदान किया जा रहा है।

वह सभी किसान जिनको 8वीं किस्त की राशि प्राप्त हुई है उन्हें अलग से 9वी किस्त की राशि प्राप्त करने के लिए आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है। उनके खाते में खुद ही किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट 9वी किस्त की राशि सरकार द्वारा पहुंचा दी जाएगी।

अपात्र होने की स्थिति में की जाएगी प्रदान कि गई राशि की वसूली

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं किसान सम्मान निधि योजना के माध्यम से किसानों को प्रति वर्ष ₹6000 रुपए प्रदान किए जाते हैं। यह राशि किसानों को ₹2000 रुपए की तीन किस्तों में प्रदान की जाती है। सरकार द्वारा पिछली कुछ किस्तों से यह देखा गया है कि कई ऐसे किसान है जो इस योजना के पात्र नहीं है या फिर फर्जी है लेकिन इसके बावजूद भी वह इस योजना का लाभ प्राप्त कर रहे हैं। ऐसे सभी किसानों को इस योजना का लाभ आने वाले समय में नहीं प्रदान किया जाएगा। इसके लिए सरकार द्वारा सभी किसानों की जांच की जाएगी।

  • कई राज्यों में काफी बड़ी संख्या में भी ऐसे किसान निकले हैं जिनको किसान सम्मान निधि योजना का लाभ तो प्राप्त हो रहा है लेकिन वह इस योजना के पात्र नहीं है।
  • ऐसे सभी किसानों के लिए केंद्र सरकार द्वारा राज्य सरकार को निर्देश दिए गए हैं कि वह अपात्र किसानों से इस योजना के अंतर्गत प्रदान किए गए पैसों की वसूली करें और यह सुनिश्चित करें कि आने वाले समय में किसी भी अपात्र किसान को इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाए।

फील्ड वेरिफिकेशन के माध्यम से की जाएगी अपात्र किसानों की जांच

अपात्र किसानों को किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट का लाभ ना पहुंचे यह सुनिश्चित करने के लिए फील्ड वेरिफिकेशन किया जाएगा। जिससे कि केवल वही किसान इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे जो इस योजना के पात्र हैं। वह सभी जानकारी जो किसान अपने आवेदन के साथ अटैच करता है उसका अब फिजिकल वेरिफिकेशन किया जाएगा। फिजिकल वेरिफिकेशन के दौरान किसान की राजस्व में भूमि रिकॉर्ड, टैक्स पेयर ना होने के संबंधित जांच की पुष्टि आदि की जाएगी। जिसके पश्चात यह तय किया जाएगा कि किसान को आगे इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा या नहीं। यदि जांच के दौरान यह पाया जाता है कि आप किसान सम्मान निधि योजना के पात्र नहीं है तो आपके खाते में अब तक जमा की गई राशि की वसूली की कार्रवाई की जाएगी।

पिछली किस्त के दौरान 33 लाख ऐसे किसान पाए गए थे जो इस योजना के पात्र नही थे। केंद्र सरकार द्वारा निर्देश दिए गए हैं कि इस योजना का लाभ केवल उन्हीं किसानों को पहुंचाया जाए जिनका नाम से खेत खसरा है।

किसान सम्मान निधि योजना 7वी किस्त

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा किसान सम्मान निधि योजना की सातवीं किस्त की राशि भेजने की घोषणा की गई थी। यह राशि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई जी की जन्म दिवस के दिन किसानों के खाते में भेजी गई हैं।  25 दिसंबर 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का आयोजन किया गया। इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उन्होंने किसानों से बात की। उन्होंने बताया कि देश के 9 करोड़ किसानों के खाते में 18000 करोड रुपए से ज़्यादा रकम भेजी गई है। यह राशि एक सिंगल क्लिक के माध्यम किसानों के बैंक अकाउंट से पहुंचाई गई है। अब तक इस योजना के अंतर्गत 1 लाख 10 हजार करोड रुपए से ज्यादा किसानों के खाते में पहुंचाए गए हैं।

  • उन्होंने यह भी बताया कि यह राशि किसानों के बैंक में पहुंचाने के लिए कोई कमीशन नहीं लिया गया है। ना ही कोई कट किया गया है तथा कोई हेरा फेरी भी नहीं की गई है। टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके यह राशि किसानों के अकाउंट में पहुंचाई गई है।
  • उन्होंने यह भी बताया कि यह राशि किसानों का राज्य सरकार द्वारा पंजीकरण होने के बाद तथा उनके बैंक खातों का वेरिफिकेशन होने के बाद उनके बैंक में पहुंचाई जाती है।
  • प्रधानमंत्री जी द्वारा यह भी बताया गया कि देश भर की सभी राज्य सरकारें किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट से जुड़ी हुई है। लेकिन पश्चिम बंगाल सरकार ने इस योजना को पश्चिम बंगाल में लागू नहीं किया है। वहां के किसानों को इस योजना का लाभ नहीं पहुंच रहा है। पश्चिम बंगाल के 7000000 किसान इस योजना से वंचित है।
  • इस योजना के अंतर्गत पश्चिम बंगाल के 2300000 किसानों ने आवेदन किया था लेकिन राज्य सरकार ने वेरीफिकेशन प्रोसेस रोक दिया है।

किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों को मिलेगा मानधन योजना का लाभ

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं किसान सम्मान निधि योजना के माध्यम से सरकार द्वारा ₹6000 की प्रति वर्ष आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। अब तक इस योजना के अंतर्गत 7 किस्तों की राशि प्रदान कर दी गई है। आठवीं किस्त की राशि अप्रैल 2021 में लाभार्थी किसानों के खाते में डाली जाएगी। अब इस योजना के सभी लाभार्थी सालाना ₹36000 वाली किसान मानधन योजना का लाभ भी प्राप्त कर सकते हैं। किसान मानधन योजना एक प्रकार की पेंशन स्कीम है। इस योजना के अंतर्गत 60 वर्ष की आयु होने के बाद प्रतिमाह ₹3000 की राशि का भुगतान किया जाता है। इस योजना के लाभार्थियों को यह लाभ प्राप्त करने के लिए अलग से किसी भी डॉक्यूमेंट को जमा करने की आवश्यकता नहीं है। इस योजना का लाभ किसान क्रेडिट कार्ड धारक भी उठा सकते हैं।

लाभ प्राप्त करने के लिए अंशदान के विकल्प का करना होगा चयन

लगभग 11 करोड पीएम किसान निधि खाता धारकों को किसान मानधन योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए अलग से पैसा खर्च करने की भी आवश्यकता नहीं है और ना ही कोई अलग से दस्तावेज लगाने की आवश्यकता है। यदि पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी मानधन योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो उनको अंशदान का विकल्प का चयन करना होगा। यह चयन नजदीकी कियोस्क सेंटर पर जाकर किया जा सकता है। यदि आप अंशदान का चयन करेंगे तो आपको प्रतिवर्ष मिलने वाले ₹6000 में से मानधन योजना की मंथली किस्त कट जाएगी और 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने के बाद आपको सालाना ₹36000 भी प्राप्त कर सकते हैं एवं किसान सम्मान निधि योजना के ₹6000 भी प्राप्त कर सकते हैं।

मानधन योजना का लाभ वह नागरिक भी उठा सकते हैं जो PM Kisan Samman Nidhi Yojana का लाभ नहीं प्राप्त कर रहे हो। वह सभी किसान जिनकी आयु 18 से 40 वर्ष के बीच है वह किसान मानधन योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी के पास 2 हेक्टेयर से ज्यादा जमीन नहीं होनी चाहिए। लाभार्थी की आयु के हिसाब से उसे ₹55 से लेकर ₹200 तक के प्रीमियम का भुगतान करना होगा।

किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट का उद्देश्य

सम्मान निधि योजना को देश के किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए आरंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से देश के किसानों को प्रति वर्ष ₹6000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। जो कि ₹2000 की तीन किस्तों में प्रदान की जाती है। इस योजना के माध्यम से देश के किसान आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनेंगे। किसान सम्मान निधि योजना के माध्यम से उचित फसल स्वास्थ्य एवं उचित फसल की पैदावार सुनिश्चित की जा सकेगी। इसी के साथ किसानों के जीवन स्तर में भी सुधार आएगा एवं उनको बेहतर आजीविका प्राप्त होगी।

किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट बजट की घोषणा

सरकार द्वारा सन 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। 1 फरवरी 2021 को हमारे देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा यूनियन बजट की घोषणा की गई है। वित्त मंत्री द्वारा यह घोषणा की गई है कि इस बजट के माध्यम से सन 2022 तक किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी। यूनियन बजट 2021 के अंतर्गत सरकार द्वारा किसानों के हित में कई सारी घोषणाएं की गई हैं। कृषि कल्याण मंत्रालय को वित्त वर्ष 2021 के लिए 1,31,531 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। यह बजट पिछली बार से 5.63% अधिक है। आवंटित राशि का आधा हिस्सा प्राधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना पर खर्च किया जाएगा।

इस योजना के अंतर्गत 65000 करोड का बजट निर्धारित किया गया है। इसी के साथ एग्री इंफ्रा फंड, सिंचाई कार्यक्रम, कृषि रिसर्च आदि के लिए भी सरकार द्वारा फंड उपलब्ध करवाया जाएगा। सरकार द्वारा एग्रीकल्चर क्रेडिट टारगेट को भी 16.5 लाख करोड़ करने की घोषणा की गई है।

किसान सम्मान निधि योजना की दूसरी वर्षगांठ

प्राधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को 24 फरवरी 2019 को हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा आरंभ कि गई थी। इस योजना को आरंभ हुए 2 साल पूरे हो चुके हैं। अब तक इस योजना के अंतर्गत कई किसानों को लाभ पहुंचाया गया है। लगभग 11.64 लाख किसान परिवारों को किसान सम्मान निधि योजना के माध्यम से लाभ पहुंचाया गया है। इस योजना के माध्यम से किसान आत्मनिर्भर बन रहे हैं तथा उनकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार आ रहा है। इस योजना के अंतर्गत किसानों के खाते में ₹6000 तीन किस्तों के माध्यम से पहुंचाए जाते हैं। यह किस्त ₹2000 की होती हैं। इस योजना के अंतर्गत किस्त की राशि हर 4 महीने में किसानों के खाते में पहुंचाई जाती है। वह सभी किसान जिनका नाम भूमि रिकॉर्ड में दर्ज है वह इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

किसान सम्मान निधि योजना 8वी किस्त के कुछ नए दिशा निर्देश

अब तक किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत 7 किस्ते सरकार द्वारा किसानों को प्रदान की जा चुकी है। 8वीं किस्त मई के अंत तक इस योजना के लाभार्थियों को प्रदान की जाएगी। ऐसे सभी किसान जो इस योजना के पात्र नहीं है उन्हें इस योजना के अंतर्गत प्राप्त हुआ पैसा वापस करना होगा। अपात्र किसान आगे से इस योजना का लाभ न उठा पाए इसलिए सरकार द्वारा कुछ नए दिशा निर्देश जारी किए गए हैं जोगी कुछ इस प्रकार है।

  • म्यूटेशन हुआ जरूरी: किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत पारदर्शिता लाने के लिए सरकार ने म्यूटेशन को जरूरी कर दिया है। अब इस योजना का लाभ किसान तभी उठा सकेगा जब उनके पास कृषि भूमि स्वयं के नाम पर आवंटित हो। वह सभी किसान जो अपने दादा परदादा की जमीन में एलपीसी के आधार पर किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उठा रहे थे उन्हें योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाएगा। इस योजना का लाभ उठाने के लिए म्यूटेशन अनिवार्य कर दिया गया है। इन नए नियमों का प्रभाव पुराने लाभार्थियों पर नहीं पड़ेगा।
  • प्लॉट नंबर देना भी हुआ अनिवार्य : किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उठाने के लिए अब प्लॉट नंबर होना भी अनिवार्य कर दिया गया है। हमारे देश में कई सारे किसान ऐसे हैं जिनकी संयुक्त भूमि है और जो खातियानी जमीन के आधार पर इस योजना का लाभ प्राप्त कर रहे हैं। इन सभी किसानों को अपने हिस्से की जमीन अपने नाम पर करानी होगी। तभी वह इस योजना का लाभ उठा पाएंगे। वह सभी किसान जो किसान सम्मान निधि योजना के लिए नया रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं उन्हें आवेदन फॉर्म में अपना प्लॉट नंबर भी लिखना होगा।

PM Kisan Samman Nidhi 7th Installment

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं सरकार द्वारा किसानों को प्रतिवर्ष आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। यह आर्थिक सहायता ₹6000 की होती है। जो कि सरकार द्वारा 2000-2000 की किस्तों में प्रदान की जाती है। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा अब तक छह किस प्रदान कर दी गई है। छठी किस्त अगस्त के महीने में प्रदान की गई थी। अब सरकार द्वारा किसानों को सातवी किस्त प्रदान करने की तैयारी चल रही है। किसान सम्मान निधि योजना की सातवीं किस्त 25 दिसंबर 2020 से जारी होना शुरू होगी। वे सभी किसान जिन्होंने किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत आवेदन किया है उनके बैंक अकाउंट में पीएम किसान सम्मान निधि योजना की सातवी किस्त आ जाएगी।

  • पीएम किसान सम्मान निधि योजना की सातवी तथा इस वर्ष की आखिरी किस्त सरकार द्वारा 25  दिसंबर 2020 को किसानों के खाते में भेजी जाएगी।
  • इस बात की घोषणा सरकार दोपहर 12:00 बजे 25 दिसंबर 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से करेगी।
  • इसी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में किस्त की राशि किसानों के बैंक अकाउंट में पहुंचाई जाएगी।
  • पीएम किसान सम्मान निधि योजना की सातवीं किसके अंतर्गत किसानों के बैंक अकाउंट में 18000 करोड रुपए पहुंचाए जाएंगे।
  • इस आर्थिक सहायता से लगभग 9 करोड किसानों को लाभ पहुंचेगा।
  • आयोजन के दौरान सरकार विभिन्न राज्यों के किसानों से बात भी करेगी तथा उनके समस्याओं को सुनेगी और उनका समाधान करने की कोशिश की जाएगी।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान प्रधानमंत्री जी ने किसानों से बात करते हुए उनको किसानों के लिए चलाई जा रही अन्य योजनाओं की भी जानकारी प्रदान की। अंत में प्रधानमंत्री जी ने सभी पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों को शुभकामनाएं दी।

pmkisan.gov.in New List 2021

देश के जिन छोटे व सीमांत किसानो ने अभी तक इस योजना के तहत आवेदन नहीं किया है वह जल्द से जल्द इस योजना में आवेदन करे और फिर पीएम किसान  सम्मान निधि योजना नई लिस्ट 2021 में अपना नाम देखे और इस योजना का लाभ उठाये । इस सूची में तहत 2 हेक्टेयर तक की भूमि वाले छोटे व सीमांत किसानो को भी सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी । सभी किसान घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से लाभार्थी सूची में अपना नाम बड़ी सरलता से देख सकते है । आप किस प्रकार Pradhanmantri Kisan Samman Nidhi Yojana List 2021 में अपना नाम देख सकते है इसकी जानकारी हमने नीचे दी हुई है । नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करके आप सूची में अपन नाम आसानी से देख सकते है ।

लाभार्थी की सूची की वैधता

लाभार्थियों की सूची केंद्र सरकार को राज्य सरकारों एवं केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा प्रदान की जाएगी। ऐसे में सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों की यह जिम्मेदारी होगी कि वह किसानों की पात्रता का सत्यापन कर ले। राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा प्रदान किए गए लाभार्थियों की सूची 1 वर्ष के लिए मान्य होगी। 1 वर्ष के बाद राज्य द्वारा दोबारा सभी पात्र किसानों की सूची प्रदान की जाएगी। हालांकि राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा पीएम किसान सम्मान निधि पोर्टल पर उन किसानों के नाम अपलोड किए जा सकते हैं जिनकी पहचान बाद में की गई हो। सभी राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों को समय-समय पर पात्र किसानों के नाम पोर्टल पर अपडेट करने होंगे।

लाभ की राशि का हस्तांतरण

किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट के अंतर्गत सभी पात्र किसानों को ₹6000 की आर्थिक सहायता प्रतिवर्ष प्रदान की जाती है। यह आर्थिक सहायता ₹2000 की किस्तों में 4 महीने के अंतराल पर प्रदान की जाती है। इस योजना का कार्यान्वयन आधार लिंक इलेक्ट्रॉनिक डाटाबेस के माध्यम से किया जाता है। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को अपना आधार नंबर देना अनिवार्य है। 31 मार्च 2021 तक के लिए असम, मेघालय एवं जम्मू कश्मीर को आधार नंबर देने अनिवार्य नहीं है। इन सभी राज्यों को अपना आधार इनरोलमेंट 31 मार्च 2021 तक पूरा करना होगा। इसके बाद इन राज्य के नागरिकों को भी अपना आधार नंबर इस योजना का लाभ उठाने के लिए प्रदान करना होगा। राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों को यह सुनिश्चित करना होगा कि किसी भी एक लाभार्थी को दो बार पैसे ना पहुंचे।

इस योजना के अंतर्गत लाभ की पूरी राशि केंद्र सरकार द्वारा किसानों के खाते में राज्य सरकार के माध्यम से पहुंचाई जाएगी। केंद्र सरकार राज्य सरकार के खाते में लाभ की राशि भेजेगी। राज्य सरकार यह राशि सभी किसानों के खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से पहुंचाएगी। राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश की सरकारों को सभी पात्र किसानों की पहचान करके किसानों की सूची केंद्र सरकार तक पहुंचानी होंगी।

किसान सम्मान निधि योजना कार्यान्वयन

  • राज्य सरकार द्वारा सभी पात्र किसानों का डाटाबेस तैयार किया जाएगा।
  • सभी पात्र किसानों की पहचान करने की पूरी जिम्मेदारी राज्य सरकार की होगी।
  • राज्य सरकार द्वारा पात्र लाभार्थियों से एक सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म भरवाया जाएगा जिसमें एक अंडरटेकिंग भी होगी।
  • इस अंडरटेकिंग में लाभार्थी द्वारा पात्रता के सत्यापन के लिए आधार संख्या के उपयोग करने की सहमति ली जाएगी।
  • राज्य में उपलब्ध भूमि स्वामित्व प्रणाली का उपयोग लाभार्थी की पहचान करने के लिए किया जाएगा।
  • सभी राज्यों का भूमि रिकॉर्ड स्पष्ट होना चाहिए।
  • सभी पात्र लाभार्थियों की सूची ग्राम स्तर पर प्रकाशित की जाएगी।
  • इसके अलावा सभी किसान परिवार जो पात्र है लेकिन उन्हें योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जा रहा है उन्हें अपने मामले का प्रतिनिधित्व करने का अवसर प्रदान किया जाएगा।
  • राज्यों द्वारा पात्र किसानों की सूची पीएम किसान पोर्टल पर अपलोड की जाएगी।

किसानों के खाते में ऐसे किए जाते हैं पैसे ट्रांसफर

किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा किसानों की आर्थिक सहायता की जाती है। यह आर्थिक सहायता केंद्र सरकार द्वारा किसानों को तभी प्रदान की जाती है जब राज्य सरकार किसानों का सत्यापन कर दें। यह सत्यापन किसानों के रेवेन्यू रिकॉर्ड, आधार नंबर और बैंक खाते को सही पाकर किया जाता है। इस योजना का लाभ किसान तब तक नहीं उठा सकते जब तक राज्य सरकार द्वारा उन्हें सत्यापित ना कर दिया जाए। जब राज्य सरकार किसानों का सत्यापन कर देती है तब राज्य सरकार की ओर से एक फंड ट्रांसफर आर्डर जारी किया जाता है। इसके बाद केंद्र सरकार किसानों के अकाउंट में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से पैसे भेजती है।

किसान सम्मान निधि छठी किस्त चेक स्टेटस ऑनलाइन लिस्ट

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं पीएम किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार हर साल किसानों को ₹6000 की आर्थिक सहायता प्रदान करती है। जो कि केंद्र सरकार दो हजार रूपए की तीन किश्तों में प्रदान करती है। यह आर्थिक सहायता केंद्र सरकार द्वारा 4 महीने के अंतराल पर प्रदान की जाती है। हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा आज दिनांक 9 अगस्त 2020 को सुबह 11:00 बजे प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की  छठी किस्त सभी लाभार्थी किसानों के खाते में भेजी जा चुकी है|

पीएम किसान छठी किस्त के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा 17000 करोड रुपए की धनराशि 8.5 करोड़ किसानों के बैंक खातों में भेजी गयी है| पीएम किसान छठी किश्त की धनराशि को केंद्र सरकार द्वारा डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर(डीबीटी) के माध्यम से ट्रांसफर की गयी है यदि आपने पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लिए आवेदन किया है तो आपके बैंक अकाउंट में यह छठी किश्त की राशि आपके संबंधित खाते में आ गई होगी |

किसान सम्मान निधि योजना में महत्वपूर्ण बदलाव

जब किसान सम्मान निधि योजना की अनौपचारिक तौर पर शुरुआत की गई थी तो इसकी पात्रता की शर्तों में यह निर्धारित किया गया था कि इस योजना का लाभ केवल वही किसान उठा पाएंगे जिनके पास 2 हेक्टेयर की जमीन है लेकिन केंद्र सरकार ने यह सीमा को खत्म कर दिया है। जिसके कारण इस योजना का लाभ 12 करोड़ किसानों से बढ़ कर 14.5 किसानों को मिलेगा।

पीएम किसान योजना छठी किस्त अपडेट

केंद्रीय कृषि मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक पीएम किसान पांचवी किस्त अप्रैल 2020 के अंतर्गत कुल 9 करोड़ किसानों के अकाउंट में करीब 18000 करोड रुपए की रकम भेजी है| दिनांक10 अप्रैल 2020 तक केंद्र सरकार द्वारा कुल 7 करोड़ किसानों के बैंक अकाउंट में ₹14000 की धनराशि डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से भेजे जाने की पुष्टि की गई है | और अब वर्ष २०२०-२१ के अंतर्गत पीएम किसान छठी किस्त रुपए 17000 करोड की धनराशि 8.5 करोड़ किसानों के बैंक खातों में भेजी गयी है|

पीएम किसान 6th किस्त

यदि आपको अभी तक गत वर्ष पांचो किस्ते मिल चुकी है तो आपको स्वतः ही छठी किश्त भी आपके बैंक अकाउंट में जमा करा दी जाएगी यदि किसी कारणवश आपके खाते में कोई धनराशि नहीं आती तो आपको अपने बैंक खाते के नाम को आधार खाते के नाम के जैसा कराना होगा इसके लिए आप नीचे दी गई प्रक्रिया का प्रयोग कर आसानी से बदलाव कर सकते हैं और अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए हेल्पलाइन नंबर पर भी संपर्क कर सकते हैं

PM Kisan Pehchan Patra

 केंद्र सरकार  देश के किसानों के लिए यूनिक फार्मर आईडी (Unique farmer ID) यानी पहचान पत्र बनाने की तैयारी कर रही है ।केंद्रीय कृषि मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया है कि पीएम-किसान सम्मान निधि स्कीम (PM-Kisan Samman Nidhi Scheme) और अन्य योजनाओं के डेटा को राज्यों द्वारा बनाए जा रहे भूमि रिकॉर्ड डेटाबेस से जोड़ने की योजना है ।इस डेटाबेस के आधार पर किसानों का विशिष्‍ट किसान पहचान पत्र बनाया जायेगा । इस किसान पहचान पत्र की सहायता से किसानो के चलायी जाने वाली योजना का लाभ देश के किसान आसानी से उठा सकेंगे । भूमि रिकॉर्ड डेटाबेस का कंप्यूटरीकरण (Digitization of Land Records) होने के बाद किसी भी योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन करने वालों का वेरीफिकेशन आसान हो जाएगा।

किसान सम्मान निधि योजना अपात्र किसान

  • वह किसान जो संवैधानिक पद पर तैनात हैं।
  • जिला पंचायत सदस्य।
  • पार्षद।
  • विधायक।
  • पूर्व या वर्तमान सांसद।
  • राज्य या केंद्र सरकार के कर्मचारी।
  • पेंशनभोगी।
  • आय कर देने वाले किसान।

पीएम किसान पहचान पत्र लाभार्थी

किसान पहचान पत्र के लिए सबसे पहले पीएम-किसान योजना के तहत रजिस्टर्ड करीब 10 करोड़ किसानों को  कवर किया जायेगा । इसमें काश्तकार, कृषि श्रमिक, बटाईदार, पट्टेदार, मुर्गीपालक, पशुपालक, मछुआरे, मधुमक्खी पालक, माली, चरवाहे आते हैं। रेशम के कीड़ों का पालन करने वाले, वर्मीकल्चर तथा कृषि-वानिकी जैसे विभिन्न कृषि-संबंधी व्यवसायों से जुड़े व्यक्ति भी किसान हैं। इन्हे भी शामिल किया जायेगा ।केंद्र सरकार के पास प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि के तहत करीब 10 करोड़ किसान परिवारों का आधार, बैंक अकाउंट नंबर और उनके रेवेन्यू रिकॉर्ड की जानकारी एकत्र हो चुकी है. इस डेटाबेस को मिलाकर यदि पहचान पत्र बनाने की कल्पना यदि साकार होती है तो किसानों का काम काफी आसान हो जाएगा |

किसान सम्मान निधि के अंतर्गत सरकार द्वारा दी गयी धनराशि

देश में चल रहे कोरोना वायरस के चलते किसानो को काफी नुकसान हो रहा है । इसी नुकसान के चलते केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी किसानो के बैंक अकाउंट में धनराशि ट्रांसफर की जा रही है । अब तक केंद्र सरकार द्वारा 5,125 करोड़ रूपये की रकम अप्रैल से जुलाई के दौरान 4 महीनो की क़िस्त के तोर पर ट्रांसफर की जा चुकी है ।

आपको बता दे कि 26 मार्च को देश की वित् मंत्री निर्मला सीतारमण जी की ओर से लॉक डाउन के चलते प्रभावित देश के गरीबो की मदद के लिए 1.7 लाभ करोड़ रूपये के पैकेज का ऐलान किया ओर किसान सम्मान निधि योजना के तहत अप्रैल के पहले हफ्ते में देश के कुल 9 करोड़ लाभार्थी किसानो के बैंक अकाउंट में 2000 रूपये की धनराशि ट्रांसफर करने का ऐलान किया है और अब मोदी सरकार द्वारा छठी किश्त के अंदर जो की अगस्त 2020 में किसानो के खातों में 17000 करोड़ की धनराशि प्रदान की गयी है|

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना 2021

इस योजना के तहत केंद्र सरकार की तरफ से देश के छोटे और सीमांत किसानो को सालाना 6000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी । सरकार की तरफ से किसानो को दी जाने वाली 6000 रूपये की धनराशि तीन समान किश्तों में प्रदान की जाएगी । 2019 के बजट में किसान सम्मान योजना के लिये 75,000 करोड़ रूपये का बजट दिया गया था। लेकिन कम संख्या में किसानों का वेरिफिकेशन हुआ इस लिए इस वर्ष बजट 2020 में  कृषि मंत्रालय ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को पैसे देने के लिए केवल 60,000 करोड़ रूपये का ही बजट माँगा है। PM Kisan Samman Nidhi Yojana के अंतर्गत 12 करोड़  छोटे तथा सीमांत किसानो को शामिल किया जायेगा | योजना के तहत लगभग 9.5 करोड़ किसानों ने रजिस्ट्रेशन कराया है इसमें से करीब 7.5 करोड़ किसानों का आधार के जरिए सत्यापन हो चुका है।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना अपडेट

केंद्र सरकार द्वारा किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट के तहत एक नयी अपडेट जारी है । इस योजना के तहत देश के जो किसान पात्र लाभार्थी है उन किसानो को इस योजना के अंतर्गत अपना किसान  क्रेडिट कार्ड बनवाना होगा । देश के सभी पात्र लाभार्थियों को अपने बैंक में जाकर एक किसान क्रेडिट कार्ड का फॉर्म भरना होगा। जहाँ आपका किसान सम्मान निधि वाला खाता है। Pradhanmantri Kisan Samman Nidhi Yojana 2021 के तहत किसानों से पूर्ण आवेदन प्राप्त करने  के 14 दिनों के भीतर बैंकों को केसीसी जारी करने का निर्देश दिया गया है।इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को अपना किसान क्रेडिट कार्ड बनाना होगा ।

किसान क्रेडिट कार्ड आवेदन फॉर्म

पीएम किसान सम्मान निधि लाभार्थियों के लिए केंद्र सरकार द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड योजना की सुविधा दिए जाने का ऐलान हाल ही में 24 फरवरी 2020 को किया गया था इस योजना के अंतर्गत जो लाभार्थी किसान क्रेडिट कार्ड लेना चाहते हैं वह बड़ी ही आसानी से किसान क्रेडिट कार्ड योजना के अंदर आवेदन कर सकते हैं | पीएम किसान लाभार्थियों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन की प्रक्रिया बेहद ही सरल रखा गया है और उनका वेरिफिकेशन का कार्य भी बड़ी आसानी से हो जाएगा | इस योजना के अंतर्गत प्राप्त क्रेडिट कार्ड से लाभार्थी लाख रुपए 1.6 रुपए लिमिट के किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधाएं आसानी से प्राप्त कर सकेगा |

यदि आप भी एक पीएम किसान सम्मान निधि के अंतर्गत लाभार्थी हैं तो आप किसान क्रेडिट कार्ड योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं इसके लिए आपको हमारे द्वारा दिए गए आवेदन पत्र को डाउनलोड करके संबंधित कार्यालय में जमा करना होगा |

खाते में आए पैसों की जांच कैसे करें

यदि आप किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट के अंतर्गत 1 लाभार्थी हैं और अपने खाते में आई धनराशि की जांच करना चाहते हैं तो आइए हम आपको बताते हैं कि आप किस प्रकार जांच कर सकते हैं केंद्र सरकार के द्वारा सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों को यह आदेश दिए गए हैं कि वह सभी किसानों को उनके मोबाइल नंबर पर एसएमएस के द्वारा सूचित करें कि उनके खाते में पीएम किसान योजना के अंतर्गत धनराशि वितरित की गई है यदि आपका मोबाइल नंबर आपके खाते से लिंक है तो स्वतः ही खाते में पैसे जमा होते ही आपके पास एसएमएस आ जाएगा | यदि किसी स्थिति में आपको मैसेज नहीं मिलता तो आप अपने संबंधित बैंक में जाकर अपने खाते की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं |

किसान सम्मान निधि योजना मोबाइल ऍप

केंद्र सरकार ने किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट मोबाइल ऍप को शुरू किया है । यह ऍप देश के किसानो को योजना के तहत आवेदन करने ,आवेदन की स्थिति देखने आदि सुविधा प्रदान करने के लिए लॉन्च किया गया है अगर किसी कारणवश आपके पास पैसा नहीं पहुंच पा रहा है तो ऐसे में पीएम किसान सम्मान निधि योजना की ऐप से जानकारी ले सकते हैं। गूगल प्ले स्टोर से जाकर इस ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं। हालांकि इस दौरान यही ध्यान रखना होता है कि ये ऐप फर्जी न हो। अधिकारिक पुष्टि वाले ऐप ही डाउनलोड करें। जिस पर PMKISAN gol दिखेंगे, उसे ही डाउनलोड करें। अब तक इस ऐप को 10 लाख से ज्यादा लोगों ने डाउनलोड किया है।देश के लोग इस ऍप के माध्यम से अपने आवेदन की स्थिति की जानकारी ले सकते हैं।

किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट की कुछ मुख्य बातें

  • किसानों के लिए चलाई गई यह योजना शत-प्रतिशत सरकार के द्वारा वित्त पोषित है |
  • यह योजना किसानों के लिए 01 दिसंबर 2018 से कार्य कर रही है |
  • इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक किसानों को सरकार द्वारा तीन किस्तों में रुपए 6000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है यानी हर 4 माह बाद किसानों के खाते में सरकार द्वारा ₹2000 डाले जाते हैं |
  • योजना के अंतर्गत लाभार्थियों का चयन सरकार तथा केंद्र सरकार द्वारा किया जाता है |
  • किसानों के खाते में डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर के माध्यम से यह धनराशि दी जाती है |
  • योजना के अंतर्गत पंजीकरण करने से पहले प्रत्येक किसान को सरकार द्वारा नामित स्थानीय पटवारी / राजस्व अधिकारी / नोडल अधिकारी (पीएम-किसान) से संपर्क करना होगा।
  • कॉमन सर्विस सेंटर को फीस के भुगतान पर योजना के लिए किसानों का पंजीकरण करने के लिए अधिकृत किया गया है।
  • पोर्टल में किसान कॉर्नर के माध्यम से किसान अपना स्व-पंजीकरण भी कर सकते हैं।
  • पोर्टल में किसान कॉर्नर के माध्यम से किसान अपने आधार डेटाबेस / कार्ड के अनुसार अपना नाम पीएम-किसान डेटाबेस में भी संपादित कर सकते हैं।
  • प्रत्येक किसान पीएम किसान पोर्टल के माध्यम से अपने भुगतान की स्थिति को जान सकता है |

किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट 2021 के लाभ

  • देश के इच्छुक लाभार्थी इस किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट 2021 में अपना नाम देखना चाहते है
  • तो उन्हें कही जाने की आवश्यकता नहीं है । अब किसान घर बैठे आसानी से ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से आसानी से लिस्ट में अपना नाम देख सकते है ।
  • इस सूची में जिन किसानो का नाम आएगा उन्हें 6000 रुपए की सहायता 3 बराबर किस्तों में प्रदान करवाई जाएगी।
  • सरकार द्वारा दी जाने वाली धनराशि सीधे लाभार्थी के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाएगी ।
  • इस योजना के ज़रिये खेती करने वाले किसानो को बेहतर आजीविका प्रदान करना तथा किसानो को आत्म निर्भर बनाना तथा सशक्त बनाना ।
  • इस पोर्टल पर की पीएम किसान सम्मान निधि योजना नई सूची के अंतर्गत ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्र के लाभार्थियों के नाम जारी किये गए है ।
  • ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्र की सूची में शामिल होने वाले लाभार्थियों को अगले 5 साल तक 6000 रूपये दिए जायेगे |

पीएम किसान सम्मान निधि योजना स्थानांतरित धनराशि आंकड़े

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत अब तक 11.47 लाख लाभार्थियों के खाते में सीधे लाभ की राशि पहुंचाई गई है।

Dec- Mar 2020-219,17,35,253
Aug- Nov 2020-2110,20,98,704
Apr-July 2020-202110,47,60,423
Dec-Mar 2019-208,94,52,175
Aug-Nov 2019-208,75,72,395
Apr-July 2019-206,63,16,797
Dec-Mar 2018-193,16,01,225

70 लाख किसानों के खाते में गड़बड़ी

किसानों के खाते में गड़बड़ी होने के कारण इंस्टॉलमेंट की राशि उनके खाते में नहीं पहुंची है। यदि आप भी उन किसानों में से हैं तो आप अपनी गलती को फौरन सुधार लें। इसके लिए आपको कहीं भी जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आपको बस अपने मोबाइल की आवश्यकता है और पीएम किसान ऐप को डाउनलोड करने की आवश्यकता है। आप आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से भी अपनी गलती का सुधार कर सकते है। आप नीचे दी गई प्रक्रिया को फॉलो कर कर अपनी गलती को ठीक कर सकते हैं।

  • सर्वप्रथम आपको पीएम किसान स्कीम की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको फार्मर कॉर्नर पर जाना होगा और कआधार डीटेल्स के ऑप्शन को सिलेक्ट करना होगा।
  • अब आपको अपना आधार नंबर भरना होगा और कैप्चा कोड भरकर सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके खाते में जो भी गड़बड़ी है आप उसे ठीक कर सकते हैं।
  • यदि आपके नाम में गड़बड़ी है तो आप उसे ठीक कर सकते हैं
  • यदि कोई अन्य गड़बड़ी है तो आपको लेखपाल से या फिर कृष विभाग से संपर्क करना होगा।

1 साल के लिए ही वालिड है लिस्ट

पीएम किसान सम्मान निधि की लिस्ट केवल 1 साल के लिए ही वलिड रहती है। इसके बाद लिस्ट को अपडेट किया जाता है। क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि किसानों ने अपनी जमीन बेच दी या फिर कोई जमीन खरीदी। इस स्थिति में पात्रता बदलती रहती है। सरकार इस योजना का दुरुपयोग रोकने के लिए हर साल इस लिस्ट को अपडेट करती है। जिससे कि इस योजना का लाभ केवल उन्हीं किसानों को पौहचे जो इस योजना के पत्र है। और वह सभी लोग जो इस योजना की पात्रता से बाहर हो गए हैं वह इस योजना का दुरुपयोग नहीं कर पाए।

किसान सम्मान निधि योजना की पात्रता

  • इस स्कीम में सरकारी नौकरियां करने वाले जनप्रतिनिधि, इनकम टैक्स के दायरे में आने वाले लोग शामिल नहीं है। लेकिन कुछ ऐसे लोग भी हैं जो अपनी खेती योग्य जमीन पर खेती भले नहीं करते हो लेकिन उन्हें भी इस स्कीम का फायदा मिल सकता है।
  • चतुर्थ श्रेणी या कर्मचारी या मल्टी टास्किंग स्टाफ के तौर पर जुड़े लोग इसके तहत खुद को रजिस्टर करा सकते हैं।
  • अगर किसी ने खेती योग्य भूमि का इस्तेमाल किसी और चीज में किया तो उसे इस स्कीम का लाभ नहीं मिलेगा।
  • जो किसान अपनी खेती योग्य भूमि पर खेती ना करता हो उसे बंजर छोड़ दिया जाता है तब भी इस स्कीम का लाभ उसे नहीं मिलेगा। हालांकि यह स्कीम खेती करने वाले भूमि या गांव में हो या शहर में हो दोनों को मिलेगी दोनों को इसका फायदा होगा ।
  • अगर किसी लाभार्थी किसान की मृत्यु हो जाती है तो उसकी जमीन परिवार वालों के नाम पर ट्रांसफर होती है, तो उन्हें यह लाभ मिल सकेगा अगर वह जमीन किसी और को बेच दी जाती है तो संबंधित व्यक्ति को ही स्कीम का लाभ मिलेगा जिसके नाम पर जमीन होगी।

पीएम किसान योजना के तहत अपात्र श्रेणियाँ

  • संवैधानिक पदों के पूर्व और वर्तमान धारक
  • पूर्व और वर्तमान मंत्रियों / राज्य मंत्रियों और लोक सभा / राज्यसभा / राज्य विधान सभाओं / राज्य विधान परिषदों के पूर्व / वर्तमान सदस्य, नगर निगमों के पूर्व और वर्तमान महापौर, जिला पंचायतों के पूर्व और वर्तमान महापौर।
  • केंद्र / राज्य सरकार के मंत्रालयों / कार्यालयों / विभागों और इसकी फील्ड इकाइयों के सभी सेवारत या सेवानिवृत्त अधिकारी और कर्मचारी केंद्रीय या राज्य सार्वजनिक उपक्रम और संलग्न कार्यालय / स्वायत्त संस्थान और सरकार के अधीन स्थानीय निकाय के नियमित कर्मचारी
  • सभी सुपरनैचुरेटेड / रिटायर्ड पेंशनर्स जिनकी मासिक पेंशन रु। 10,000 / – अधिक है
  • अंतिम मूल्यांकन वर्ष में आयकर का भुगतान करने वाले सभी व्यक्ति
  • डॉक्टर, इंजीनियर, वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट, और आर्किटेक्ट जैसे पेशेवर पेशेवर निकायों के साथ पंजीकृत होते हैं और अभ्यास करते हैं।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना रिजेक्टेड लिस्ट

देश के जिन किसानो के आवेदन फॉर्म में गड़बड़ी हुई है और आवेदन फॉर्म में गलती होने की वजह से उनके आवेदन रिजेक्ट कर दिए गए है। इनरिजेक्टेड आवेदन की सूची को ऑनलाइन जारी कर दिया है। जिन लोगो का नाम लाभार्थी सूची में नहीं आया और वह अपना नाम देखना चाहते है तो वह रिजेक्टेड लिस्ट की जांच कर सकते है। जिन किसानो नाम इस स्थगित सूची के अंतर्गत आएगा उन्हें दोबारा से इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन सही सही आवेदन करना होगा। उसके बाद लाभार्थी सूची के अंतर्गत आपने नाम की जांच करनी होगी। उसके बाद ही वह इस योजना का लाभ उठा सकेंगे।

आवेदन रिजेक्ट होने के कारण

जैसे की आप सभी लोग जानते है इस योजना के अंतर्गत अब तक 8 करोड़ से भी अधिक किसानो को लाभ पहुंचाया जा चूका है। केंद्र का उद्देश्य है देश के हर गरीब किसानो को इस योजना का लाभ मिले। जिन किसानो के नाम इस योजना के तहत रिजेक्ट कर दिए गए है वह इस योजना का लाभ दोबारा उठाने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है और सरकार द्वारा किसानो को 5 साल तक दिया जाने वाला 6000 रूपये का लाभ उठा सकते है। इस योजना के अंतर्गत किसानो के द्वारा किये गए आवेदन रिजेक्ट होने के कई कारण है जैसे

  • किसान की आयु 18 वर्ष से कम होना।
  • खसरा खतौनी में कुछ गलत जानकारी देना
  • किसान के द्वारा बैंक अकाउंट नंबर गलत दर्ज करना या आईएफएससी कोड गलत भर देना।
  • आवेदन फॉर्म भरते समय किसी तरह की त्रुटि करना।
  • किसान के खाते वैद्य या बंद होना।
  • आपने बैंक का नाम तो दर्ज कर दिया है लेकिन आपने आईएफएससी कोड किसी और बैंक का दर्ज कर दिया हैं।

किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट- PM Kisan Status

देश के जो इच्छुक लाभार्थी पीएम किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट 2021 में अपना नाम देखना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे ।

सर्वप्रथम लाभार्थी को कृषि एवं किसान कल्याण विभाग की Official Website पर जाना होगा । ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *